पति-पत्नी में प्यार बढ़ाते हैं ये चमत्कारी मंत्र

Posted by Admin 13/11/2015 0 Comment(s) Astrology,

एक कहावत तो आपने सुनी ही होगी कि ‘पति-पत्नी का रिश्ता दो लोगों का नहीं होता, दो जिस्मों का भी नहीं होता, बल्कि यह रिश्ता तो दो आत्माओं के मिलन का होता है’। सुनने में यह कितना रोमांटिक और अच्छा लगता है, साथ ही नई-नई शादी के बंधन में बंधे लोगों के लिए शादीशुदा रिश्ता काफी प्रिय बन जाता है, लेकिन धीरे-धीरे कब यह रिश्ता फीका पड़ने लगता है पता भी नहीं लगता।

शादी के कुछ दिनों तक सब अच्छा लगता है, नयापन जिंदगी में सुहाना लगता है, लेकिन जैसे-जैसे आप एक दूसरे को जानने लगते हैं पहचानने लगते हैं, यह रिश्ता कुछ कम अच्छा लगने लगता है। क्या बस यही कारण है कि शादी बेकार लगने लगती है?

शायद नहीं... क्योंकि धार्मिक दृष्टि से हमारा जीवन और उनसे जुड़े लोग और उनसे बंधा हमारा रिश्ता यह सभी कलह का शिकार बन जाता है। यह कलह रिश्तों में खटास भरती है, लेकिन आज हम आपकी इस कलह को दूर करने के उपाय बताएंगे।

यदि शादी के कुछ समय के बाद आप भी खुद से निरंतर यह सवाल करते हैं कि आपने आखिर शादी क्यों की और इस शादी में इतनी परेशानियां क्यों हैं तो घबराइए नहीं। आगे जानिए कुछ खास मंत्र, जिनका प्रयोग कर आप अपनी शादीशुदा जिंदगी की हर समस्या से निजात पा सकते हैं।

आगे की स्लाइड्स में बताए जा रहे सभी उपायों को आजमाएं और अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाएं। ध्यान रहे कि उन्हें वैसे ही खुद पर अमल करें जैसे निर्देश दिए गए हैं....

सबसे पहला उपाय आप दोनो पति-पत्नी को ही करना है, इसके लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें और दोनों साथ में शि‍व मंदिर जाएं। मंदिर में जाकर पूरे श्रद्धा भाव से दोनों पति-पत्नी मिलकर शिवलिंग पर जल चढ़ाते हुए इस मंत्र का जाप करें - ओम् नम: संभवाय च मयो भवाय च नम: शंकराय च मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च।।

कुछ कपल्स की अक्सर शिकायत होती हैं कि उन दोनों में बिना मतलब झगड़े होते रहते हैं। उन झगड़ों का कोई अर्थ नहीं होता, उनके पीछे कोई उद्देश्य दिखाई नहीं देता, बस यह झगड़े दिन-प्रतिदिन बढ़ते जाते हैं।

यदि आपके साथ या आप ही के किसी जानने वाले को ऐसी ही किसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है तो एक शास्त्रीय उपाय अवश्य करें। इसके लिए समस्या में उलझे पति-पत्नी सुबह उठकर स्नान के बाद किसी एकांत जगह आसन बिछा लें और उस आसन पर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं।

जहां पति—पत्नी बैठे हैं उसके सामने मां पार्वती की तस्वीर या प्रतिमा रखें और पूरे श्रद्धा के साथ 21 बार इस मंत्र का जाप करें – अक्ष्यौ नौ मधुसंकाशे अनीकं नौ समंजनम्। अंत: कृणुष्व मां ह्रदि मन इन्नौ सहासति।।

वैवाहिक जीवन में हमेशा शांति बनी रहे, पति-पत्नी में कोई मतभेद ना हो इसके लिए भी एक शास्त्रीय उपाय हम आपको बताएंगे। यह बात सत्य है कि पति-पत्नी में झगड़े होना आम बात है, छोटे-छोटे झगड़े तो हर किसी में होते हैं लेकिन यह झगड़े कोई बुरा रूप ना ले लें इसके लिए आगे की स्लाइड्स में जानिए एक शास्त्रीय उपाय.......

सुबह सूर्यादय के पूर्व उठकर स्नान करें, इसके बाद मां दुर्गा की प्रतिमा या चित्र के सामने दीपक जलाएं। मां के सामने अगरबत्ती जलाएं और इसके बाद उन्हें फूल चढ़ाएं। अंत में इस मंत्र का 108 बार सही उच्चारण के साथ जाप करें - धां धीं धूं धूर्जटे: पत्नी वां वीं वूं वागधीश्वरी क्रां क्रीं क्रूं कालिका देवि शां शीं शूं मे शुभं कुरू।।

आपका वैवाहिक जीवन हमेशा हंसी-खुशी निकले, इसमें कोई परेशानी ना आए इसके लिए आप बताए गए यह उपाय कभी भी, किसी भी समय कर सकते हैं। इसके लिए समय, शुभ मुहूर्त या लग्न की कोई आवश्यक्ता नहीं है। यदि किसी चीज़ की जरूरत है तो पति और पत्नी, दोनों के बीच श्रद्धा का होना, इसके बिना कोई भी मंत्र और पूजा व्यर्थ ही है।

Write a Comment