कुंभ राशिफल 2016 - Kumbh Rashifal

Posted by 4Remedy 25/12/2015 0 Comment(s) Rashi,

                                                                         

                        कुंभ राशिफल 2016 - Kumbh Rashifal

नए साल को लेकर आपके मन में बहुत सारे सवाल उठ रहे होंगे। आइए जानते हैं कि नए साल में आपकी ज़िन्दगी किस तरह गुज़रने वाली है? सफलता पाने के कौन-कौन से बेहतर तरीके आप अपना सकते हैं? कौन-कौन से दिन आपको सफलता दिलाने वाले होंगे? वर्ष की शुरूआत में शनि वृश्चिक के साथ और गुरू सिंह के साथ दिखाई दे रहे हैं। राहु और केतु 31 जनवरी के बाद क्रमशः सिंह तथा कुम्भ में प्रवेश कर जाएंगे। हमारी भविष्यवाणियों की मदद से आप पूरे साल की सुनिश्चित और बेहतर योजना बनाने में सफल रहेंगे, लेकिन भविष्यवाणी बताने से पहले आपको बता दें कि यह भविष्यवाणी पूरी तरह से वैदिक ज्योतिष पर आधारित है।

पारिवारिक जीवन

कुंभ राशि के जातकों के लिए वर्ष 2015 का राशिफल।नए साल में आपका पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा। परिवार के सदस्यों का लगभग पूरे साल सहयोग मिलेगा, जिसके कारण आप मानसिक रूप से शांत रहेंगे। राहु आपके सातवें घर पर हावी रहेगा, लेकिन बृहस्पति के गोचर के कारण अगस्त तक आपके वैवाहिक जीवन में मधुरता क़ायम रहेगी। वैवाहिक जीवन का भरपूर आनंद मिलेगा, लेकिन अगस्त के बाद कुछ मतभेद हो सकता है। यदि माता-पिता के साथ संबंधों की बात करें तो आपका संबंध बेहतर रहने वाला है। पार्टनर के साथ ज़्यादा-से-ज़्यादा समय बिताने की कोशिश करें। इससे रिश्तों में मधुरता आएगी। रिश्तेदारों से भी आपका संबंध अच्छा रहेगा।

 

स्वास्थ्य

इस साल में आप बेहतर स्वास्थ्य के धनी रहने वाले हैं। हालाँकि मस्तिष्क और जननांगों में कुछ परेशानियाँ होने की संभावना है। साथ ही सरदर्द, अपच और आँखों में जलन भी हो सकती है। निरोगी काया के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीएँ। धूम्रपान और शराब से दूरी बनाकर ही रहें तो बेहतर होगा, अन्यथा सेहत को ज़्यादा नुकसान हो सकता है। वैसे आपको नशा करना पसंद है, लेकिन जितना जल्दी हो सकें इसका त्याग करना ही उचित होगा और आपके स्वास्थ्य के लिए भी यही बेहतर होगा।

 

आर्थिक जीवन

इस वर्ष आपकी आर्थिक स्थिति ठीक-ठाक रहने वाली है, लेकिन ज़्यादा दरियादिली दिखाने से परहेज़ करें। दूसरों की मदद करना अच्छी बात है, लेकिन अपनी आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखकर किया जाए तो और भी अच्छी बात है। पैसा अर्जित करना बहुत मुश्किल है, लेकिन उड़ाना आसान। इसलिए व्यर्थ में धन बर्बाद न करें। अगस्त तक ज़्यादा सतर्क रहें तथा किसी को उधार देने से परहेज़ करें। दोस्तों की मदद से अच्छा मुनाफ़ा प्राप्त होने वाला है। वर्ष 2016 में आपके पास धन का आगमन तो होगा, लेकिन यह कब तक ज़ारी रहेगा यह निश्चित नहीं है। अतः सोच-समझकर ही फ़ैसले लें।

 

नौकरी पेशा

जो लोग शनि की दशा से गुजर रहें है, उनके लिए आने वाला 4-5 साल बेहतर रहेगा, लेकिन जिनके उपर बृहस्पति की दशा चल रही है, उन्हें कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन साथ में आपकी तरक्क़ी भी होगी। इसलिए हताश होने की कोई ज़रूरत नहीं है। केतु की दशा से गुज़र रहे लोगों को ज़्य़ादा परेशानी हो सकती है। सामान्यतः नौकरी से संबंधित सभी मामलों में यह साल आपके लिए बेहतर साबित होगा। पदोन्नती होगी तथा सैलरी भी बढ़ेगी।

 

कारोबार

कारोबार के लिहाज़ से यह वर्ष आपके लिए शुभ रहने वाला है। शनि की दशा से गुजर रहे लोगों को अत्यधिक लाभ होगा, जबकि केतु की दशा वालों को थोड़ी परेशानी हो सकती है। हालाँकि धन का आगमन निर्वाध रूप से ज़ारी रहेगा। साझेदारी वाले कारोबार में ज़्यादा सतर्कता बरतने की ज़रूरत है, पार्टनर के साथ किसी प्रकार के विवाद को न पनपने दें। अगस्त माह के बाद कारोबार में कुछ उतार-चढ़ाव होने के कारण कुछ परेशानी हो सकती है। ऐसे समय में संयम से काम लें, घबराने से कुछ हासिल नहीं होगा।

 

प्रेम-संबंध

वर्ष 2016 में आपके प्रेम-संबध सामान्य रहेंगे। व्यस्त दिनचर्या के कारण अपने प्यार को ज़्यादा समय नहीं दे पाएंगे। यदि आप किसी के साथ पहले से ही रिश्ते निभा रहें हैं तो स्थिति में कुछ ख़ास बदलाव नहीं होगा। यदि किसी के प्रति आपके दिल में प्यार है तो इस वर्ष आप उसे ज़ाहिर कर सकते हैं। सफलता मिलने के ज़्यादा आसार हैं। जीवनसाथी के साथ रिश्तों में पूरी पारदर्शिता रखें। किसी प्रकार के शक़ को पैदा न होने दें। ज़रा सी भी लापरवाही आपके रिश्तों को ख़राब कर सकती है, इसलिए पूरी सावधानी बरतें।

 

सेक्स लाइफ़

इस वर्ष आपको यौन सुखों की भरपूर प्राप्ति होने वाली है। यौन इच्छाओं में वृद्धि होगी। यदि विवाहित हैं तो जीवनसाथी के साथ अन्यथा जिसके साथ डेटिंग करें हैं, उनके साथ बेहतर सुखों की प्राप्ति होगी। हालाँकि ज़्यादा सक्रियता आपकी सेहत को प्रभावित कर सकती है। अतः इस पर नियंत्रण बनाने की कोशिश करें।

 

सावधानी बरतने वाले दिन

30 अप्रैल से 13 जुलाई और 12 सितंबर से 10 अक्टूबर के बीच किसी प्रकार के निवेश करने से परहेज़ करें। जो लोग बृहस्पति की महादशा से गुजर रहें हैं वे लोग 8 जनवरी से 9 मई तक किसी नए कार्य का शुभारंभ न करें और उधार देने से बचें। जब चंद्रमा सिंह, वृश्चिक या कुम्भ में प्रवेश करे, उस समय अपने ग़ुस्से पर काबू रखें और विवादों से दूरी बनाकर रहें।

उपाय

यदि आप लग्नेश शनि है तो नियमित रूप से हनुमान चालिसा का पाठ करें। सुबह-शाम रामचरित मानस का पाठ करना भी आपके लिए फ़ायदेमंद होगा। नियमित रूप से माँ दूर्गा की पूजा करें और देवी कवच का पाठ करें।

Write a Comment